[New Education Policy-2020]♦️नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के बारे में जानकारी

0

new education policy pdf,new education policy 2020 in india, new education policy in hindi, new education policy 2020 implementation date

New Education Policy:मेरे प्रिय मित्रो आज हम नयी शिक्षा नीति(New Education Policy-2020) से जुडी सम्पूर्ण जानकारी से आप को अवगत करायेंगे ।प्राचीनकाल से समय-समय पर शिक्षा नीति में परिवर्तन होने से बच्चो को शिक्षा से लाभ प्राप्त होता है,साथ ही एक शिक्षित सामाज के सृजन में सहायक होता है।

सर्वप्रथम शिक्षा नीति में परिवर्तन पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी द्वारा  सन 1968 में शुरू हुआ इसके उपरांत दूसरी शिक्षा नीति 1986 में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी द्वारा किया गया। जिसमे कुछ संशोधन 1992 में पूर्व प्रधानमंत्री नरसिम्हा राव द्वारा किया गया था।देश में 34 वर्ष पुरानी शिक्षा नीति को  केंद्र सरकार के द्वारा मानव संसाधन प्रबंधन मंत्रालय के मार्गदर्शन पर नयी शिक्षा नीति-2020 को मंजूरी दी गयी।New Education Policy-2020 की अध्यक्षता इसरो के पूर्व प्रमुख  डॉ  कस्तूरीरंगन ने किया। केंद्र सरकार ने मानव संशाधन मंत्रालय का नाम बदलकर शिक्षा मंत्रालय कर दिया है।

New Education Policy क्या है ? इससे होने वाले फायदे व् शिक्षा के क्षेत्र में क्या बदलाव हुए है इस पर हम विस्तृत चर्चा करेंगे।  

उत्तर-प्रदेश पहला ऐसा प्रदेश बन गया है जिसने नयी शिक्षा नीति -२०२० को प्रदेश में लागू किया है।

New Education Policy(नयी शिक्षा नीति-2020) क्या है ?

नयी शिक्षा नीति एक राष्ट्रीय लक्ष्य है। नयी शिक्षा नीति एक ऐसा माध्यम है जिससे देश के बच्चो ,युवाओ व् समाज के भविष्य  का सृजन किया जा सकता है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अंतर्गत विद्यालयों व् कॉलेजो में होने वाली शिक्षा पद्धति के प्रारूप को तैयार किया गया है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति का प्रमुख उद्देश्य वैश्विक स्तर पर महाशक्ति बनना है।

new-education-policy-2020

नयी शिक्षा नीति-2020

नयी शिक्षा नीति-2020 मोदी सरकार के द्वारा लागू किया गया है। जिसमे निम्नलिखित बदलाव किया गया है जो इस प्रकार है-

  • ➡️ New Education Policy-2020 में 10+2 पैटर्न के स्थान पर 5+3+3+4 पैटर्न को लागू किया गया है। 5+3+3+4 पैटर्न के अनुसार 12 वर्ष की स्कूली शिक्षा व् 3 वर्ष की प्री -स्कूली शिक्षा होगी।
  • ➡️ नयी शिक्षा नीति में कक्षा-५ तक के छात्रों को अपनी मात्रृ -भाषा या क्षेत्रीय भाषा में शिक्षा दी जाएगी|
  • ➡️ राष्ट्रीय शिक्षा नीति में कक्षा-6 से व्यावसायिक प्रशिक्षण इंटेर्नशिप शुरू किया जायेगा।
  • ➡️ मेडिकल और लॉ की शिक्षा को छोड़कर सभी शिक्षा का सार्वभौमीकरण किया जायेगा।
  • ➡️ National Education Policy 2020 में छात्रों को कौशल कोडिंग सिखाई जाएगी।
  • ➡️ राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत वर्चुअल लैब डेवलप किये जायेंगे।
  • ➡️ नयी शिक्षा नीति में विद्यालय डिजिटल एन्क्रिप्ट किये जायेंगे।
  • ➡️ नयी शिक्षा नीति के अंतर्गत उच्च शिक्षा में मल्टीपल एंट्री व् एग्जिट का विकल्प  होगा।
  • ➡️ राष्ट्रीय शिक्षा नीति में नेशनल रिसर्च की स्थापना होगी।
  • ➡️ New Education Policy-2020 में 10+2 पैटर्न के स्थान पर 5+3+3+4 पैटर्न को लागू किया गया है। 5+3+3+4 पैटर्न के अनुसार 12 वर्ष की स्कूली शिक्षा व् 3 वर्ष की प्री -स्कूली शिक्षा होगी।
  • ➡️ नयी शिक्षा नीति में कक्षा-५ तक के छात्रों को अपनी मात्रृ -भाषा या क्षेत्रीय भाषा में शिक्षा दी जाएगी|
  • ➡️ राष्ट्रीय शिक्षा नीति में कक्षा-6 से व्यावसायिक प्रशिक्षण इंटेर्नशिप शुरू किया जायेगा।
  • ➡️ मेडिकल और लॉ की शिक्षा को छोड़कर सभी शिक्षा का सार्वभौमीकरण किया जायेगा।
  • ➡️ National Education Policy 2020 में छात्रों को कौशल कोडिंग सिखाई जाएगी।
  • ➡️ राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत वर्चुअल लैब डेवलप किये जायेंगे।
  • ➡️ नयी शिक्षा नीति में विद्यालय डिजिटल एन्क्रिप्ट किये जायेंगे।
  • ➡️ नयी शिक्षा नीति के अंतर्गत उच्च शिक्षा में मल्टीपल एंट्री व् एग्जिट का विकल्प  होगा।
  • ➡️ राष्ट्रीय शिक्षा नीति में नेशनल रिसर्च की स्थापना होगी।
  • ➡️ नयी शिक्षा नीति के अंतर्गत 2030 तक हर बच्चे की शिक्षा सुनिश्चित की जाये।
  • ➡️ नयी शिक्षा नीति के अंतर्गत 2030 तक हर बच्चे की शिक्षा सुनिश्चित की जाये।

MP Land Record Online कैसे चेक करे?

New Education Policy(नयी शिक्षा नीति-2020) के फायदे :

  • ➡️ New Education Policy के तहत जीडीपी का 6% शिक्षा के क्षेत्र में लगाया जायेगा।
  • ➡️ नयी शिक्षा नीति के अंतर्गत उच्च शिक्षा में मल्टीपल एंट्री व् एग्जिट का विकल्प  होगा।
  • ➡️ National Education Policy 2020 में छात्रों को कौशल कोडिंग सिखाई जाएगी।
  • ➡️ राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अंतर्गत संस्कृत भाषा व् अपने प्राचीन भाषा (भारत की )में पढ़ने का विकल्प छात्रों  को मिलेगा।
  • ➡️ बोर्ड परीक्षा को वर्ष में दो चरणों में कराया जायेगा जिससे छात्रों को सरल व् भारमुक्त वातावरण मिल सके।
  • ➡️ Higher Education लेवल पर M.phil.degree को समाप्त किया जायेगा।
  • ➡️ नयी शिक्षा नीति के अंतर्गत extra curriculum activity को main syllbus में रखा जायेगा।
  • ➡️ राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अंतर्गत छात्रों को तीन भाषा सिखाई जाएगी जो कि राज्य अपने स्तर पर भाषा का चुनाव करेगा।
  • ➡️ नयी शिक्षा नीति में संगीत और कला को भी प्रोत्साहित किया जायेगा।
  • ➡️ नई शिक्षा नीति- 2020 के अंतर्गत राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद द्वारा स्कूली शिक्षा के लिए राष्ट्रीय पाठ्यक्रम रूपरेखा तैयार की जाएगी।
  • ➡️ समय के अनुसार शिक्षा नीति में बदलाव छात्रों में शैक्षिक विकास व् समाज में संतुलन बनाने में सहायता मिलेगी।

नयी शिक्षा नीति-2020 महत्वपूर्ण चरण

New Education Policy (नयी शिक्षा नीति-2020) को चार महत्वपूर्ण चरणों में विभाजित किया गया है जो इस प्रकार है –

  • ➡️ फाउंडेशन स्टेज : नई शिक्षा नीति- 2020 में  फाउंडेशन स्टेज के अंतर्गत 3 से 8 वर्ष के बच्चे को सम्मलित किया गया है, इसके तहत बच्चे 3 वर्ष की अपनी प्री- स्कूली शिक्षा तथा 2 वर्ष की स्कूली शिक्षा जिसमें कक्षा 1 तथा 2 सम्मलित है । फाउंडेशन स्टेज में छात्रों को भाषा कौशल तथा शिक्षण के विकास पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा । छात्रों को extra curriculum activity के माध्यम से पढ़ने पर जोर दिया जायेगा।
  • ➡️ प्रीप्रेटरी स्टेज : इस चरण के अंतर्गत 8 से 11 वर्ष के बच्चे को सम्मलित किया गया है , प्रीप्रेटरी स्टेज के तहत कक्षा-3 से कक्षा-5 के बच्चे सम्मलित होंगे और इस चरण में बच्चों की भाषा और संख्यात्मक कौशल के विकास पर ध्यान देना शिक्षकों का मुख्य उद्देश्य रहेगा । प्रीप्रेटरी स्टेज तक बच्चों को क्षेत्रीय भाषा में शिक्षित किया जायेगा।
  • ➡️ मिडिल स्टेज : मिडिल स्टेज के अंतर्गत कक्षा 6 से कक्षा 8 के बच्चे सम्मलित होंगे। मिडिल स्टेज के अंतर्गत कक्षा 6 के बच्चों को कोडिंग सीखाने के साथ व्यावसायिक प्रशिक्षण और इंटर्नशिप दी जाएगी ।
  • ➡️ सेकेंडरी स्टेज : सेकेंडरी स्टेज के तहत कक्षा 9 से 12 तक के बच्चों को सम्मलित किया गया है। इसके अंतर्गत बच्चे अपनी इच्छा अनुसार विषय का चुनाव करके शिक्षा ग्रहण कर सकता है ।

राष्ट्रीय शिक्षा नीति के प्रमुख उद्देश्य

प्राचीन भारत में शिक्षा का प्रमुख उद्देश्य ज्ञान प्राप्त करना मात्र नहीं था अपितु स्कूल के बाहर के जीवन की तैयारी करना व् स्वयं का पूर्ण बोध तथा मुक्ति भी था। मानव शिक्षा का प्रमुख उद्देश्य जीवन निर्माण ,विचारो को आत्मसात करने वाला होना चाहिए। आज की शिक्षा हमारी प्राचीन परम्पराओ के बिलकुल विपरीत ,छात्रों को उनकी व्यक्तिगत क्षमता के लिए विकसित नहीं किया जाता है। आज छात्रों को नए कौशलों के अधिग्रहण की नियमित रूप से आवश्यकता है।

अतः आधुनिकता के इस माहौल में छात्र को ज्ञान,कौशल ,तथा रोजगार योग्य कौशल शिक्षा से शिक्षित होना अति आवश्यक है ,जो भारत के सामाजिक ,आर्थिक व् राजनैतिक में अपना योगदान करने में सक्षम रहे। केंद्र सरकार का नयी शिक्षा नीति -२०२० में उपरोक्त उद्देश्य अंतर्निहित है।

राष्ट्रीय शिक्षा नीति के प्रमुख उद्देश्य का संक्षिप्त रूप जो इस प्रकार है-

  • ➡️ वर्ष 2025 तक  की 3 से 6 आयु के प्रत्येक बच्चे के लिए मुफ्त ,सुरक्षित ,उच्च गुणक्ता ,विकासात्मक स्तर के देखभाल तथा शिक्षा सुनिश्चित करना।
  • ➡️ वर्ष 2025 तक  5वी कक्षा एवं उसके ऊपर के सभी विद्यार्थी बुनियादी साक्षरता व् संख्या ज्ञान अर्जित कर सके।
  • ➡️ वर्ष 2030 तक 3 से 18 वर्ष के बच्चो के लिए निशुल्क और अनिवार्य गुणक्तापूर्ण स्कूली शिक्षा की पहुंच तथा भागीदारी सुनिश्चित करना।
  • ➡️ वर्ष 2022 तक शिक्षाक्रम और शिक्षण शास्त्र में बदलाव करना ताकि रटने के प्रचलन को ख़त्म किया जा सके तथा इसकी जगह  21वी शताब्दी में आवश्यक ज्ञान ,मूल्य ,रुझान ,हुनर और कौशल ,वैज्ञानिक सोच आदि विकास को बढ़ावा देना।
  • ➡️ स्कूल शिक्षा के सभी स्तर के सभी विद्यार्थियों का शिक्षण उत्साहित ,प्रेरित ,उच्च योग्यता वाले प्रशिक्षित व् निपूर्ण शिक्षकों द्वारा हो।
  • ➡️ एक समतामूलक तथा समावेशी शिक्षा व्यवस्था स्थापित करना।
  • ➡️ स्कूलों के समूह को स्कूल कॉम्लेक्स का रूप दिया जाय,जिससे संशाधनो का साझा उपयोग सुगम बने। 

नयी शिक्षा नीति  से सम्बंधित महत्वपूर्ण PDF

New Education Policy-2020 PDF in Hindi

New Education Policy-2020 PDF in English

नयी शिक्षा नीति -2020 से क्या अभिप्राय है ?

नयी शिक्षा नीति-2020 एक राष्ट्रीय लक्ष्य है। नयी शिक्षा नीति एक ऐसा माध्यम है जिससे देश के बच्चो ,युवाओ व् समाज के भविष्य  का सृजन किया जा सकता है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अंतर्गत विद्यालयों व् कॉलेजो में होने वाली शिक्षा पद्धति के प्रारूप को तैयार किया गया है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति का प्रमुख उद्देश्य वैश्विक स्तर पर महाशक्ति बनना है।

राष्ट्रीय शिक्षा नीति -२०२० किसकी अध्यक्षता में बनाया गया ?

इसरो के पूर्व प्रमुख  डॉ  कस्तूरीरंगन की अध्यक्षता में राष्ट्रीय शिक्षा नीति -२०२० बनाया गया।

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.