Citizenship Amendment Bill Kya Hai?⏪ जानें 10 खास बातें

0 2,630

Citizenship Amendment Bill 2019 Kya Hai? : दोस्तों इन दिनो एक मुद्दा काफी चर्चा में है वो है Nagrikta Sanshodhan Bill Kya Hai? और NRC Kya Hai जो की आगामी परीक्षा में Current Affairs GK की द्रष्टि से काफी महत्वपूर्ण है ।काफी जद्दोजहद के बाद को लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल को केंद्रीय कैबिनेट ने दी मंजूरी, जानिये  खास बातें

संसद से नागरिकता संशोधन विधेयक (CAB) को 11 दिसंबर 2019 को मंजूरी मिल गई थी. इस विधेयक के पक्ष में 125 मत पड़े जबकि 105 सदस्यों ने इसके खिलाफ मतदान किया था. राष्ट्रपति ने इस विधेयक को 12 दिसंबर को मंजूरी दे दी थी. राष्ट्रपति की मंजूरी मिलते ही यह विधेयक नागरिकता संशोधन विधेयक कानून बन गया है.

🔲 जरुर पढे़ – National Film Awards 2019 in Hindi

🔲 जरुर पढे़ – National Parks in India PDF – Wildlife Sanctuaries in India

नागरिकता संशोधन बिल (सीएबी) और एनआरसी में क्या अंतर है?

Difference Between NRC and CAB in Hindi

Citizenship Amendment Bill 2019 – नागरिकता (संशोधन) विधेयक 2016 क्या है?

यह विधेयक पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश से आने वाले हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी, ईसाई गैरमुस्लिमों के लिए भारत की नागरिकता आसान बनाने के मकसद से लाया गया है.

हाल ही में लोकसभा में नागरिकता (संशोधन) विधेयक, 2019 प्रस्तुत किया गया, इस बिल के द्वारा नागरिकता अधिनियम, 1955 में संशोधन किया जायेगा।

Nagrikta Sanshodhan Bill Kya Hai?
What is Citizenship Amendment Bill –CAB? जानें 10 खास बातें

जो छात्र नीचे दिये गयी परीक्षाओं जैसे-

  • SSC Graduate Level Exams & Intermediate(10+2) Level Exams – Data Entry Operator & LDC,Stenographer Grade ‘C’ & ‘D’
  • Civil Services Examination & State Level – MPPCS ,BPSC
  • उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग UPPCS Exams Like –Lower Subordinate Exam,Staff Nurse,LT Grade Teacher,RO/ARO Exams etc.
  • CPO Sub-Inspector, Section Officer(Audit), Tax Assiatant (Income Tax & Central Excise), Section,Officer (Commercial Audit)
  • उत्तर प्रदेश अधिनस्थ सेवा चयन बोर्ड के द्वारा आयोजित परीक्षाए जैसे – Junior Assistant,Lekhpal,ग्राम विकास अधिकारी etc.
  • CISF,Air Force (X & Y Group Exam)

की तैयारी कर रहे है उनके लिए भी यह काफी महत्वपूर्ण है

🔲 जरुर पढे़ – Major Crops of India with List of Major Food Crops in India

  • इस बिल के द्वारा बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफ़ग़ानिस्तान के प्रताड़ित हिन्दू, जैन, सिख, इसाई, बौद्ध तथा पारसी नागरिकों को भारत की नागरिकता प्रदान की जाएगी।
  • यह बिल देश के सभी राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों पर लागू होगा, इस बिल के लाभार्थी व्यक्ति देश की किसी भी भाग में रह सकते हैं।
  • इस बिल के द्वारा उन लोगों को काफी राहत मिलेगी जो पड़ोसी देशों से आकर गुजरात, राजस्थान, दिल्ली मध्य प्रदेश इत्यादि राज्यों में रह रहे हैं।
  • रिपोर्ट के अनुसार प्रताड़ित धार्मिक अल्पसंख्यकों के लिए सरकार 31 दिसम्बर, 2014 को कट ऑफ डेट निश्चित कर सकती है।
  • नागरिकता अधिनियम, 1955 अवैध आप्रवासियों को या तो जेल में भेजा जा सकता है अथवा उन्हें उनके देश में वापस भेजा जा सकता है।

Important Point about Citizenship Amendment Bill for Competitive Exam

आइए इस जानते हैं क्या है नागरिकता संशोधन बिल, इससे जुड़ी 10 खास बातें। क्या है नागरिकता संशोधन विधेयक (सीएबी):

  • यह बिल नागरिकता बिल 1955 में संशोधन करता है, जिससे चुनिंदा श्रेणियों में अवैध प्रवासियों को भारतीय नागरिकता देने का पात्र बनाया जा सके।
  • नागरिकता संशोधन बिल का उद्देश्य बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान से धार्मिक उत्पीड़न का शिकार होकर भारत आने वाले छह समुदायों-हिंदू, सिख, जैन बौद्ध, ईसाई और पारसी धर्म के लोगों को भारतीय नागरिकता देना है।
  • इस बिल में इन छह समुदायों को ऐसे लोगों को भी नागरिकता देने का प्रस्ताव है, जो  वैध यात्रा दस्तावेजों के बिना ही भारत आए गए थे या जिनके दस्तावेजों की समय सीमा समाप्त हो गई है।
  • अगर कोई व्यक्ति, इन तीन देशों से के उपरोक्त धर्मों से संबंधित है, और उसके पास अपने माता-पिता के जन्म का प्रमाण नहीं है, तो वे भारत में छह साल निवास के बाद भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • ये संशोधित बिल उन लोगों पर लागू होता है, जिन्हें धर्म के आधार पर उत्पीड़न की वजह से भारत में शरण लेने के लिए मजबूर होना पड़ा।
  • इस बिल का उद्देश्य ऐसे लोगों को अवैध प्रवास की कार्यवाही से बचाना भी है।

एनआरसी क्या है? [NRC Kya Hai]

एनआरसी (NRC) असम में अधिवासित सभी नागरिकों की एक सूची है. वर्तमान में राज्य के भीतर वास्तविक नागरिकों को बनाए रखने और बांग्लादेश से अवैध रूप से प्रवासियों को बाहर निकालने हेतु अद्यतन किया जा रहा है. यह पहली बार साल 1951 में तैयार किया गया था.

एनआरसी प्रक्रिया हाल ही में असम में पूरी हुई. हालांकि, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने नवंबर 2019 में संसद में घोषणा की कि एनआरसी पूरे भारत में लागू किया जाएगा.

NRC के तहत पात्रता मानदंड क्या है?

राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) की वर्तमान सूची में शामिल होने के लिए व्यक्ति के परिजनों का नाम साल 1951 में बने पहले नागरिकता रजिस्टर में होना चाहिए या फिर 24 मार्च 1971 तक की चुनाव सूची में होना चाहिए.

दस्तावेजों में: इसके लिए अन्य दस्तावेजों में जन्म प्रमाणपत्र, शरणार्थी पंजीकरण प्रमाणपत्र, भूमि और किरायेदारी के रिकॉर्ड, नागरिकता प्रमाणपत्र, स्थायी आवास प्रमाणपत्र, पासपोर्ट, एलआईसी पॉलिसी, सरकार द्वारा जारी लाइसेंस या प्रमाणपत्र, बैंक या पोस्ट ऑफिस खाता, सरकारी नौकरी का प्रमाण पत्र, शैक्षिक प्रमाण पत्र एवं अदालती रिकॉर्ड होना चाहिए.

दोस्तों अगर आपको किसी भी प्रकार का सवाल है या ebook की आपको आवश्यकता है तो आप comment कर सकते है. हमारा लेख Nagrikta Sanshodhan Bill Kya Hai? अगर आपको पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे. जो स्टूडेंट्स 🔜 SSC-CGL/UPSSSC/Railway/Bank आदि एकदिवसीय परीक्षा की अध्ययन सामाग्री प्राप्त करना चाहते है वो जल्दी से इस चैनल में जॉइन 🔔 कर ले और अपनी सुझाव एवं रेटिंग 👇 अवश्य दें

»» Join Telegram ««

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More