MGNREGA Scheme | NREGA Yojana क्या है,जाने MGNREGA Scheme Information हिन्दी में ।

0

MGNREGA Scheme को केंद्र सरकार द्वारा वर्ष 2005 में शुभारम्भ किया गया। केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय ग्रामीण रोज़गार गारंटी अधिनियम, 2005 (NREGA Scheme) के रूप में प्रस्तुत किया जिसे वर्ष 2010 में नरेगा योजना (NREGA) का नाम परिवर्तित करके महात्मा गाँधी राष्ट्रीय रोजगार गारण्टी योजना (मनरेगा) कर दिया गया।MGNREGA Scheme विश्व का सबसे बड़ा सामाजिक कल्याणकारी कार्यक्रम है,जो ग्रामीण मजदूरो को रोज़गार की कानूनी स्तर पर गारंटी देता है।MGNREGA Scheme in India में ग्रामीण क्षेत्र के प्रत्येक परिवार के सदस्य जो वयस्क हो तथा श्रम करने के इच्छुक हो, उन्हें 100 दिन का गारंटीयुक्त रोज़गार, दैनिक बेरोज़गारी भत्ता सरकार द्वारा दिया जायेगा।

NREGA Job Card List 2021 | Download MGREGA Job Card List State Wise

महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोज़गार गारंटी अधिनियम ( मनरेगा ) का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्र के मजदूर जो सामाजिक व् आर्थिक रूप से कमजोर है उनके विकास को सुनिश्चित करना है।पंचायती राज संस्थानों को महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोज़गार गारंटी अधिनियम ( मनरेगा ) के तहत किये जा रहे कार्यों के नियोजन, कार्यान्वयन और निगरानी हेतु उत्तरदायी बनाया गया है।

मेरे प्रिय मित्रो आइये जाने मनरेगा योजना क्या है ? तथा MGNREGA Scheme Information की जानकारी हिंदी में प्राप्त करे।

MGNREGA Scheme

MGNREGA Scheme क्या है ?

मनरेगा योजना एक सामाजिक कल्याणकारी कार्यक्रम है,जो रोज़गार की कानूनी स्तर पर गारंटी देता है। केंद्र सरकार द्वारा राष्ट्रीय ग्रामीण रोज़गार गारंटी अधिनियम, 2005 (NREGA Scheme) के रूप में शुरू किया गया, जिसे वर्ष 2010 में नरेगा योजना (NREGA) का नाम परिवर्तित करके महात्मा गाँधी राष्ट्रीय रोजगार गारण्टी योजना (मनरेगा) कर दिया गया।

इस योजना से सम्बंधित विस्तृत जानकारी निम्नवत है –

  • मनरेगा योजना के अंतर्गत श्रम करने के इच्छुक व्यक्ति को 100 दिन का गारंटीयुक्त रोज़गार, दैनिक बेरोज़गारी भत्ता सरकार द्वारा दिया जायेगा।
  • MGNREGA Scheme in India में एक-तिहाई महिलाओं का होना अनिवार्य है।
  • मनरेगा योजना में भुगतान न्यूनतम मज़दूरी अधिनियम, 1948 के तहत किया जाता है।
  • MGNREGA Scheme Details के अनुसार, आवेदन जमा करने के 15 दिनों के भीतर या जिस दिन से काम की मांग की जाती है, आवेदक को रोज़गार प्रदान किया जाएगा।
  • मनरेगा योजना के तहत किये जा रहे कार्यों के नियोजन, कार्यान्वयन और निगरानी हेतु उत्तरदायी बनाया गया है।
  • मनरेगा योजना के तहत कुल तीन क्षेत्रों में (i) अकुशल,अर्द्ध-कुशल और कुशल श्रमिकों की मज़दूरी (ii) आवश्यक सामग्री (iii) प्रशासनिक लागत पर धन व्यय किया जाता है।
  • मनरेगा योजना के तहत आर्थिक राशि की जिम्मेदारी केंद्र व् राज्य सरकार द्वारा सम्मलित रूप से किया जाता है।केंद्र सरकार अकुशल श्रम की लागत का 100%, अर्द्ध-कुशल व् कुशल श्रम की लागत का 75%, सामग्री की लागत का 75% तथा प्रशासनिक लागत का 6% आर्थिक राशि वहन करती है, तथा शेष आर्थिक राशि वहन राज्य सरकार द्वारा किया जाता है।

MGNREGA Scheme से होने वाले फायदे

➡️मनरेगा योजना में सम्मलित होने वाले ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को उनके ही क्षेत्र में रोजगार प्रदान किया जाता है।
➡️ मनरेगा योजना के 100 दिन का गारंटीयुक्त रोज़गार, दैनिक बेरोज़गारी भत्ता सरकार द्वारा दिया जायेगा।
➡️ मनरेगा योजना के तहत एक-तिहाई महिलाओं का होना अनिवार्य है।
➡️ मनरेगा योजना में सभी अकुशल,अर्द्ध-कुशल और कुशल श्रमिकों को सरकार द्वारा रोजगार की गारंटी दी जाती है।
➡️ MGNREGA Scheme in India में सभी श्रमिकों को स्वच्छ पेयजल जैसी बुनियादी सुविधाएं और प्राथमिक चिकित्सा सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी।
➡️ मनरेगा योजना आवेदन करने के बाद 15 दिन के भीतर या जिस दिन से काम की मांग की जाती है, आवेदक को रोज़गार प्रदान किया जाएगा।

MGNREGA Scheme in India के उद्देश्य

➡️ MGNREGA Scheme in India का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्र के श्रमिकों को हर साल न्यूनतम 100 दिनों का रोजगार की गारंटी उपलब्ध कराना है।
➡️ मनरेगा योजना का मुख्य उद्देश्य देश में ग्रामीण क्षेत्र के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के पास आजीविका का स्रोत सुनिश्चित करना है।
➡️ ग्रामीण क्षेत्र के मजदूरों का गाँव से पलायन को रोकना सरकार की प्राथमिकता है।
➡️ मनरेगा योजना का उद्देश्य ग्रामीण परिवेश के मजदूरों की आजीविका को मजबूत करना और बुनियादी सुविधा के संसाधन प्रदान करना।
➡️MGNREGA Scheme in Hindi पंचायती क्षेत्र में रोजगार के अवसर को बढ़ावा देना जिससे मजदूर वर्ग के लोग अपनी जीवन-यापन सुनिश्चित कर सके।

MGNREGA Scheme में होने वाले कार्यो का विवरण

➡️ जल संरक्षण करना ।
➡️ सूखे की रोकथाम के अंतर्गत वृक्षारोपण करना।
➡️ बाढ़ नियंत्रण पर रोक लगान।
➡️ भूमि विकास करना।
➡️ सरकार द्वारा विभिन्न योजनाओ के अंतर्गत आवास का निर्माण करवाना।
➡️ लघु सिंचाई करवाना।
➡️ नहरों की खुदाई व् मरम्मत का कार्य करवाना।
➡️ बागवानी करवाना।
➡️ ग्रामीण सम्पर्क मार्ग का निर्माण करवाना।
➡️ केन्द्र सरकार राज्य सरकार के द्वारा शुरू की गयी योजनाओ के अंतर्गत कार्यो को भी सम्मलित किया गया है |

MGNREGA Scheme Information के मुख्य बिंदु

➡️ MGNREGA Scheme Information में ग्रामीण परिवारों के युवाओं को रोज़गार का कानूनी अधिकार दिया गया है।
➡️ मनरेगा योजना में 15 दिनों के भीतर आवेदक को रोज़गार प्रदान किया जाएगा।
➡️ मनरेगा योजना एक-तिहाई महिलाओं का होना अनिवार्य है।
➡️ मनरेगा योजना में मज़दूरी का भुगतान न्यूनतम मज़दूरी अधिनियम, 1948 के तहत दिया जायेगा।

MGNREGA Scheme in Hindi में प्राप्त उपलब्धियाँ

➡️जीवन-यापन व् सामाजिक सुरक्षा की दृष्टिकोण से मनरेगा ग्रामीण क्षेत्र की गरीब महिलाओं के सशक्तीकरण हेतु यह योजना बहुपयोगी सिद्ध हुई है।आँकड़ों के अनुसार, वित्तीय वर्ष 2015-16 में मनरेगा योजना के अंतर्गत सृजित रोज़गार में से 56% महिलाओं को सम्मलित किया गया था।
➡️ MGNREGA Scheme in Hindi के शुरुआती 10 वर्षों में कुल 3.14 लाख करोड़ रुपए सरकार द्वारा खर्च किये गए।
➡️ मनरेगा योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र के अनुसूचित जाति व् अनुसूचित जनजातियों के मजदूरों को अपनी आजीविका सुनिश्चित करने तथा जीवन स्तर के सुधार में मदद मिली है।
➡️ मनरेगा दुनिया का सबसे बड़ा सामाजिक कल्याण हेतु योजना है,जिसके द्वारा ग्रामीण क्षेत्र के रोजगार में एक सकारात्मक बदलाव देखने को मिला है।
➡️ विश्व बैंक ने 2015 में मनरेगा को विश्व के सबसे बड़े लोकनिर्माण कार्यक्रम के रूप में मान्यता दी।
➡️ National Council of Applied Economic Research की रिपोर्ट के अनुसार आर्थिक व सामाजिक रूप से दुर्बल वर्ग – दैनिक मज़दूर, आदिवासी,दलित के मध्य आर्थिक तंगी कम करने में मनरेगा की महत्त्वपूर्ण भूमिका रही है।
➡️ वर्ष 2017-18 के आँकड़ों के विश्लेषण से यह स्पष्ट हुआ है कि 18 से 30 वर्ष के युवा वर्ग के श्रमिकों की संख्या में बढ़ी है। जो यह दर्शाता है कि ग्रामीण क्षेत्रों से युवा मजदूरो का गाँव से पलायन रुका है साथ ही आर्थिक स्थिति में भी सुधार हुआ है।

MGNREGA Scheme श्रमिकों के अधिकार

➡️ एक वित्तीय वर्ष में कम से कम दिनों का रोजगार लेने का अधिकार।
➡️ जॉब कार्ड पाने का अधिकार।
➡️ मजदूरी तलाशने वाले को काम की अवधि व् तिथि तय करने का अधिकार।
➡️ काम पूरा होने के 15 दिनों के अंदर भुगतान का अधिकार।
➡️ यदि कार्य स्थल कि दूरी 5 किलोमीटर से अधिक है तो 10% अधिक मजदूरी पाने का अधिकार।
➡️ शिकायत दर्ज करने व् निश्चित समय के अंदर समाधान पाने का अधिकार।
➡️ यदि कार्य स्थल पर दुर्घटना होती है तो मुआवजे पाने का अधिकार।
MGNREGA Scheme का संक्षिप्त विवरण
योजना का नाम – महात्मा गाँधी राष्ट्रीय रोजगार गारण्टी योजना
योजना की शुरुआत – वर्ष 2010
शुरुआत – केंद्र सरकार द्वारा
मंत्रालय – ग्रामीण विभाग मंत्रालय
वेबसाइट – https://nrega.nic.in/netnrega/home.aspx
हेल्पलाइन नंबर – 1800111555
For More Read Visit Official Website : MGNREGA Schme

FAQ

MGNREGA Scheme की शुरुआत कब हुई ?

MGNREGA Scheme की शुरुआत 2005 में की गयी। वर्ष 2010 में NREGA का नाम परिवर्तित करके MGNREGA कर दिया गया।

MGNREGA Scheme के तहत रोजगार का आवंटन कौन करता है?

MGNREGA Scheme के तहत रोजगार का आवंटन ग्राम पंचायत या कार्यक्रम अधिकारी करता है।

MGNREGA Scheme का उद्देश्य क्या है?

MGNREGA Scheme भारत सरकार द्वारा शुरू की गई एक सामाजिक सुरक्षा योजना है, जो देश में ग्रामीण श्रमिकों को रोजगार और आजीविका प्रदान करने का प्रयास करती है।

क्या MGNREGA Scheme और NREGA एक ही योजना है ?

हाँ , MGNREGA Scheme और NREGA दोनों एक ही योजना है ,सिर्फ योजना का नाम परिवर्तित कर दिया गया है।

मनरेगा के अंतर्गत कौन-कौन से कार्य होते है ?

मनरेगा के अंतर्गत-
जल संरक्षण करना,सूखे की रोकथाम के अंतर्गत वृक्षारोपण करना, बाढ़ नियंत्रण पर रोक लगान,भूमि विकास करना, सरकार द्वारा विभिन्न योजनाओ के अंतर्गत आवास का निर्माण करवाना,लघु सिंचाई करवाना,नहरों की खुदाई व् मरम्मत का कार्य करवाना,बागवानी करवाना, ग्रामीण सम्पर्क मार्ग का निर्माण करवाना आदि कार्य होते है।

मनरेगा योजना के फायदे क्या है ?

➡️ MGNREGA Scheme में सम्मलित होने वाले ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को उनके ही क्षेत्र में रोजगार प्रदान किया जाता है।
➡️ MGNREGA Scheme के 100 दिन का गारंटीयुक्त रोज़गार, दैनिक बेरोज़गारी भत्ता सरकार द्वारा दिया जायेगा।
➡️ MGNREGA Scheme के तहत एक-तिहाई महिलाओं का होना अनिवार्य है।
➡️ MGNREGA Scheme में सभी अकुशल,अर्द्ध-कुशल और कुशल श्रमिकों को सरकार द्वारा रोजगार की गारंटी दी जाती है।
➡️ MGNREGA Scheme in India में सभी श्रमिकों को स्वच्छ पेयजल जैसी बुनियादी सुविधाएं और प्राथमिक चिकित्सा सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी।
➡️ MGNREGA Scheme आवेदन करने के बाद 15 दिन के भीतर या जिस दिन से काम की मांग की जाती है, आवेदक को रोज़गार प्रदान किया जाएगा।

मनरेगा के प्रमुख उद्देश्य क्या है ?

➡️ MGNREGA Scheme in India का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्र के श्रमिकों को हर साल न्यूनतम 100 दिनों का रोजगार की गारंटी उपलब्ध कराना है।
➡️ MGNREGA Scheme in India का मुख्य उद्देश्य देश में ग्रामीण क्षेत्र के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के पास आजीविका का स्रोत सुनिश्चित करना है।
➡️ ग्रामीण क्षेत्र के मजदूरों का गाँव से पलायन को रोकना सरकार की प्राथमिकता है।
➡️ MGNREGA Scheme का उद्देश्य ग्रामीण परिवेश के मजदूरों की आजीविका को मजबूत करना और बुनियादी सुविधा के संसाधन प्रदान करना।
➡️MGNREGA Scheme in Hindi पंचायती क्षेत्र में रोजगार के अवसर को बढ़ावा देना जिससे मजदूर वर्ग के लोग अपनी जीवन-यापन सुनिश्चित कर सके।

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.